अजीत डोभाल की बातों की गंभीरता को हमें समझना होगा
October 27, 2018 • राजीव कुमार ठाकुर

देश में दस सालों के लिए पूर्ण बहुमत की सरकार, जरूरत के हिसाब से सरकार के 'कड़े नीतिगत और प्रशासनिक फैसले' और देश को 'बाहरी ताकतों' के मुक़ाबले 'अंदरूनी ताकतों' से खतरे की चर्चा कर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने उस गंभीर मसले पर देश की जनता को ध्यान आकृष्ट करने का प्रयास किया है जिसकी आज सबसे अधिक जरूरत है.

एक दिन पहले भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने ऑल इंडिया रेडियो द्वारा नई दिल्ली में आयोजित सरदार पटेल मेमोरियल लेक्चरर में अपने व्याख्यान के दौरान तीन महत्वपूर्ण मुद्दों पर देश का ध्यान आकृष्ट किया. पहला,